रविवार, 13 फ़रवरी 2011

द्वारकाधीश मंदिर से नीलम की मूर्ति चोरी


home news


रोहिड़ा (सिरोही)। स्थानीय द्वारकाधीश मंदिर से शुक्रवार रात चोर करीब एक हजार साल पुरानी नीलम के पत्थर से बनी मूर्ति और चांदी की पांच अन्य प्रतिमाएं चोरी कर ले गए। नीलम के पत्थर से बनी भगवान द्वारकाधीश की मूर्ति की अनुमानित कीमत दो करोड़ रूपए बताई गई है।

वैष्णव सम्प्रदाय के राजगुरूद्वारा पैलेस रोड सिरोही निवासी महंत सीताराम महाराज ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि उनके अखाडे के अधीन रोहिड़ा के द्वारकाधीश मंदिर में मरड़ी अखाड़ा हिमाचल प्रदेश निवासी भजनगिरी को पूजा के लिए करीब डेढ़ माह से रखा हुआ था। शनिवार सुबह 6 बजे भजनगिरी ने सूचना दी कि शनिवार सुबह जब वह उठा तो उसके कमरे के बाहर से कुंडी लगी थी।

खिड़की से देखा तो मंदिर के ताले टूटे हुए थे। मंदिर के अंदर से भगवान द्वारकाधीश की नीलम की मूर्ति व पास रखी चांदी की पांच गाय, भगवान के पहने हुए चांदी के दो कंगन व चांदी की बांसुरी गायब थी। भगवान द्वारकाधीश के पास लगी हुई रूकमणि व राधा की पीतल की मूर्तियां व सालिग्राम की मूर्तियां उखाड़ कर फेंकी हुई थीं।

डॉग स्क्वायड की मदद
मौके पर डॉग स्क्वायड को लाया गया। एफएसएल टीम ने जूतों के प्रिंट लिए। कुछ देर बाद आबूपर्वत पुलिस उप अधीक्षक पन्नालाल मीणा मौके पर पहुंचे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।